Thursday, October 17, 2019

Har Kisiko Nahin Miltaa Yahaan Pyaar Zindagi Mein (हर किसीको नहीं मिलता): Sanskrit Version Lyrics (जीवने वै न सर्वेषाम्): Dr. Harekrishna Meher

Original Hindi Song: 
Har Kisiko Nahin Miltaa Yahaan Pyaar Zindagi Mein 
(Film: Jaanbaaz, 1986) *
Sanskrit Version Lyrics By: Dr.Harekrishna Meher
(As per Original Tune)     
 - - - - - - - - - - - -
हिन्दीगीतम् : * हर किसीको नहीं मिलता * (चलचित्रम् : जाँबाज, १९८६) *  
मूलगीतस्वरानुकूल-संस्कृतानुवादकः - डॉ. हरेकृष्ण-मेहेरः 
= = = = = = = =
जीवने वै सर्वेषां, कृते प्रेम त्वत्र लभ्यम्
प्रेम त्वत्र लभ्यम्
जीवने वै सर्वेषां, कृते प्रेम त्वत्र लभ्यम्
भाग्यशालिनस्ते, समवाप्तो हि यान्  
वसन्तोऽस्ति जीवनेऽयम्
जीवने वै सर्वेषां, कृते प्रेम त्वत्र लभ्यम्
प्रेम त्वत्र लभ्यम्  (
*
अधराभ्यामधरौ स्तां न युतौ
न वा भुजौ भुजाभ्यां संलग्नौ ।
अधराभ्यामधरौ स्तां न युतौ
न वा भुजौ भुजाभ्यां संलग्नौ ।
हृद्-युग्मं जीवितुमिह शक्तम्
काङ्क्षायाः कटाक्ष-भारैः स्वम्
काङ्क्षायाः कटाक्ष-भारैः स्वम् ॥
जीवने वै सर्वेषां, कृते प्रेम त्वत्र लभ्यम्
जीवने वै सर्वेषां, कृते प्रेम त्वत्र लभ्यम्
प्रेम त्वत्र लभ्यम्  ॥ (१)  
*
कामं रौप्यमुपवने प्रवर्षतु वै,
नाप्यं कुसुमं वसन्तेन विना । 
कामं रौप्यमुपवने प्रवर्षतु वै, 
नाप्यं कुसुमं वसन्तेन विना । 
शक्यं जीवनं हि विना सर्वै: 
जीवनं न शक्यं प्रेम विना । 
जीवनं न शक्यं प्रेम विना ।।  
जीवने वै  सर्वेषां, कृते प्रेम त्वत्र लभ्यम् 
जीवने वै  सर्वेषां, कृते प्रेम त्वत्र लभ्यम् 
प्रेम त्वत्र लभ्यम्  ॥ (२)  
*
अलकानां सन्ति मृदु-ध्वान्ताः
शारीराः सन्त्युष्णालोकाः
अलकानां सन्ति मृदु-ध्वान्ताः
शारीराः सन्त्युष्णालोकाः
प्रेमाप्तं, जीवित-काले नौ, 
आवां खलु सौभाग्यशालिनौ ॥
आवां खलु सौभाग्यशालिनौ ॥
जीवने वै न सर्वेषां, कृते प्रेम त्वत्र लभ्यम्  
जीवने वै न सर्वेषां कृते प्रेम त्वत्र लभ्यम्  
प्रेम त्वत्र लभ्यम्  
भाग्यशालिनस्ते, समवाप्तो हि यान्  
वसन्तोऽस्ति जीवनेऽयम्
जीवने वै सर्वेषां, कृते प्रेम त्वत्र लभ्यम्  ॥ (३) 
 = = = = = = =  
(Translated for popularisation with service to Sanskrit and the nation.
Courtesy and Acknowledgements:  Film 'Jaanbaaz')  
= = = = = = = =
मूलहिन्दी गीत : * हर किसीको नहीं मिलता *
चलचित्र : जाँबाज  (१९८६) *  गीतकारइन्दीवर
संगीतकार : कन्याणजी आनन्दजी *
गायक : साधना सरगम एवं मनहर उधास  *
= = = = = = = = = =
हर किसीको नहीं मिलता, यहाँ प्यार जिन्दगी में ।
प्यार जिन्दगी में ।
हर किसीको नहीं मिलता, यहाँ प्यार जिन्दगी में ।
खुशनसीब हैं वो, जिनको है मिली,   
ये बहार जिन्दगी में ॥
हर किसीको नहीं मिलता, यहाँ प्यार जिन्दगी में ।
प्यार जिन्दगी में ()
*
होंठों से होंठ मिले ना भले
चाहे मिले ना बाहें बाहों से
होंठों से होंठ मिले ना भले
चाहे मिले ना बाहें बाहों से
दो दिल जिन्दा रह सकते हैं
चाहत की भरी निगाहों से
चाहत की भरी निगाहों से ॥  
हर किसीको नहीं मिलता, यहाँ प्यार जिन्दगी में
हर किसीको नहीं मिलता, यहाँ प्यार जिन्दगी में
प्यार जिन्दगी में ॥ (१)  
चाहे चांदी चमन में बरसती रहे, 
मिलता नहीं फूल बहार बिना । 
चाहे चांदी चमन में बरसती रहे, 
मिलता नहीं फूल बहार बिना । 
है सबके बिना जीना मुमकिन, 
नामुमकिन जीना प्यार बिना । 
नामुमकिन जीना प्यार बिना ।। 
हर किसीको नहीं मिलता, यहाँ प्यार जिन्दगी में । 
हर किसीको नहीं मिलता, यहाँ प्यार जिन्दगी में । 
प्यार जिन्दगी में ।। (२) 
*
जुल्फों के नर्म अन्धेरे हैं
जिस्मों के गर्म उजाले हैं ।
जुल्फों के नर्म अन्धेरे हैं
जिस्मों के गर्म उजाले हैं ।
जीते-जी हमको प्यार मिला
हम दोनों किस्मतवाले हैं  
हम दोनों किस्मतवाले हैं
हर किसीको नहीं मिलता, यहाँ प्यार जिन्दगी में
हर किसीको नहीं मिलता, यहाँ प्यार जिन्दगी में
प्यार जिन्दगी में
खुशनसीब हैं वो, जिनको है मिली,   
ये बहार जिन्दगी में ॥
हर किसीको नहीं मिलता, यहाँ प्यार जिन्दगी में (३)  
= = = = = = = = 

Related Links :
‘Chalachitra-Gita-Sanskritaayanam’: चलचित्र-गीत-संस्कृतायनम्  :
*
Biodata: Dr. Harekrishna Meher :
*
YouTube Videos (Search): Dr. Harekrishna Meher :
*  
VIDEOS of Dr. Harekrishna  Meher : 
Link : 
*
Dr. Harekrishna Meher on Radio and Doordarshan Channels:
Link : 
= = = = = =

No comments: